Updated -

mobile_app
liveTv

फतेहपुर में पारा फिर 0.2 डिग्री पहुंचा, 8 शहरों का तापमान 5 डिग्री से नीचे

जयपुर । प्रदेश में शीतलहर चलने से सर्दी का कहर जारी है। जिसके चलते  सुबह कई जगह कोहरा छाया रहा। कार चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ा। फतेहपुर में पारा 0.2 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। वहीं माउंट आबू में 1.0 डिग्री रहा। राजधानी जयपुर में भी पारे में भी कमी आई। यहां तापमान 7.5 डिग्री दर्ज किया गया। इसके साथ 8 शहरों का तापमान 5 डिग्री के नीचे रिकॉर्ड किया गया है। मौसम विभाग ने अगले दो दिनों तक श्रीगंगानगर, झुंझुनूं, सीकर, चूरू, हनुमानगढ़, अलवर, भरतपुर और दौसा सहित उत्तरी इलाकों में जबरदस्त शीतलहर चलने के साथ उत्तरी इलाकों में भारी कोहरा की संभावना जताई है। सर्द हवाओं से गलन के साथ ठिठुरन बढ़ गई। 
 

सीएम और डिप्टी सीएम ने राहुल गांधी की किसान रैली का जायजा लिया

जयपुर । प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने 9 जनवरी को किसान रैली को लेकर आयोजन स्थल विद्याधर नगर जाकर तैयारियों का जायजा लिया। 

इस मौके पर जयपुर पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव ने सुरक्षा व्यवस्था और ट्रैफिक व्यवस्था को लेकर जानकारी दी। वहीं लाखों किसानों की भीड़ को देखते हुए सीएम और डिप्टी सीएम ने पुलिस-प्रशासन को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इस मौके पर परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास और कांग्रेस विधायक अमीन कागजी भी मौजूद रहे।

वहीं डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने कहा कि यह रैली ऐतिहासिक होगी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इस रैली के जरिये राजस्थान में लोकसभा चुनाव का बिगुल फूकेंगे। साथ ही पीएम मोदी पर देशभर के किसानों की कर्जमाफी की मांग करेंगे।
जॉन अब्राहम ने कहा, वो सोशल मीड‍िया देखकर आजकल तय होता है कि आप कितने बड़े स्टार हैं. मैं खुद मार्केट‍िंग बैकग्राउंड से हूं, लेकिन मेरा मैनेजर अगर ये कहता है कि सोशल मीड‍िया देखकर ही वो मुझे बताएगा तो वह अपनी जॉब सही से नहीं कर रहा है. जॉन अब्राहम ने कहा, मैं कई ऐसे स‍ितारों की तारीफ भी करता हूं ज‍िन्होंने खास जगह बनाई है

धौलपुर में विश्वेन्द्र सिंह ने ऐसे की जनसुनवाई,यहां पढ़ें

धौलपुर। प्रदेश के पर्यटन और देवस्थान मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने धौलपुर सर्किट हाऊस मे जमीन पर बैठ कर जनसुनवाई की उन्होंने जनसुनवाई के दौरान कहा है कि उनकी सरकार और वे स्वयं हर समय आमजन की समस्याओं के निवारण के लिये तैयार हैं। प्राप्त शिकायतों का समयबद्ध समाधान किया जायेगा। 

पर्यटन और देवस्थान मंत्री धौलपुर में जब भी आएगें उस दौरान आमजन की समस्या सुनकर उनका मौके पर ही समाधान कराया जाएगा। साथ ही कहा कि समस्या राज्य स्तर की होने पर उसको मुख्यमंत्री के सामने रखकर उसका समाधान किया जाएगा। 

जिले में संचालित राज्य सरकार की सभी विकास और व्यक्तिगत कल्याणकारी योजनाओं तथा अधूरी परियोजनाओं को जल्द से जल्द पूरा किया जाएगा। उन्होंने विश्वास दिलाया कि सभी जनप्रतिनिधि व अधिकारी जिले के विकास के लिए और बेहतर कार्य करेंगे। इस अवसर पर राजाखेड़ा विधायक रोहित बोहरा, बाड़ी विधायक गिर्राज सिंह और प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों सहित आमजन मौजूद रहें।

 

महापौर और आयुक्त ने श्रमदान करके दिया ये संदेश

स्कूलों में अब 12 जनवरी तक छुट्टी

जयपुर। राजस्थान में शीतलहर का दौरा जारी है और कड़ाके की सर्दी के चलते जनजीवन काफी प्रभावित हो रहा है। सदी के तीखे तेवर देखते हुए कई कई जगह स्कूलों में छुट्टी घोषित कर दी गई है। राजधानी जयपुर सहित कई शहरों में स्कूलों का समय बदला गया है। आपको बता दें कि प्रदेश में शीतलहर चलने से सर्दी का कहर जारी है और अधिकांश इलाकों में सुबह घना कोहरा भी छाया रहता है। राजधानी जयपुर में रविवार को जहां तापमान 8.9 डिग्री दर्ज किया गया वहीं माउंट आबू में 3.0 डिग्री पारा रिकॉर्ड किया गया। यहीं नहीं प्रदेश के 6 शहरों का तापमान 5 डिग्री के नीचे रिकॉर्ड किया गया है।

12 जनवरी तक छुट्टी: 13 को रविवार, 14 को मकर संक्रांति--
राजधानी में पहली से पांचवी कक्षा तक के बच्चों की 12 जनवरी तक छुट्टी की गई है। सर्दी के तीखे तेवर देखते हुए जिला कलक्टर जगरुप सिंह ने सोमवार को अवकाश घोषित किया है। जारी आदेशों के अनुसार जिले के सभी सरकारी व निजी स्कूलों में 8-12 जनवरी तक अवकाश रहेगा। गौरतलब है कि इसके बाद 13 को रविवार होने के कारण व 14 जनवरी को मकर संक्रांति का अवकाश रहेगा। ऐसे में अब बच्चों के स्कूल 15 जनवरी को ही खुलेंगे।

शिक्षकों को आना होगा स्कूल---
कलक्टर की ओर से जारी आदेशों के अनुसार मौसम विभाग के पूर्वानुमान व शीतलहर की स्थिति को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है। स्कूलों में केवल बच्चों का अवकाश रहेगा। शिक्षकों को स्कूल आना होगा। साथ ही जिन स्कूलों में परीक्षा चल रही हैं, वहां भी पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार परीक्षा चलती रहेगी। ऐसे स्कूलों में अवकाश नहीं होगा। 

स्वाइन फ्लू को लेकर गहलोत और सराफ ने साधा एक दूसरे पर निशाना

जयपुर । प्रदेश में स्वाइन फ्लू का कहर जारी है। लगातार स्वाइन फ्लू पीड़ितों की संख्या बढ़ती जा रही है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि जनजागरूकता से ही स्वाइन फ्लू को रोका जा सकता है। 

पीसीसी में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि मुझे में स्वाइन फ्लू हुआ था, लेकिन समय रहते पांच दिन तक टेमीफ्लू दवा का सेवन किया और ठीक हो गया। लेकिन पूर्व भाजपा सरकार में तो चिकित्सा विभाग की लापरवाही से भाजपा की महिला विधायक की मौत हो गई थी। गहलोत ने कहा कि स्वाइन फ्लू को लेकर सभी अस्पतालों में जांच और दवाईयां निशुल्क है, और लोगों को सतर्कता रखते हुए स्वाइन प्लू का इलाज करवाना चाहिये। 

वहीं प्रदेश के पूर्व चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ ने कहा कि अगर देखा जाये तो मुख्यमंत्री के गृह जिले में स्वाइन फ्लू के सर्वाधिक मरीज सामने आ रहे है और हाल यह है कि खुद मुख्यमंत्री और उनके चिकित्सा मंत्री इस पर केवल नियंत्रण का आश्वासन देकर पल्ला झाड़ लेते हैं। 
पूर्व चिकित्सा मंत्री सराफ ने कहा कि मुख्यमंत्री और चिकित्सा मंत्री द्वारा स्वाइन फ्लू की रोकथाम पर दिये जा रहे आश्वासन से काम नहीं चलेगा। इसके लिए मुख्यमंत्री स्तर पर लगातार माॅनिटरिंग होना जरूरी है। 

सराफ ने कहा कि जागरूकता के अभाव में ही स्वाइन फ्लू बीमारी की चपेट में लोग आ रहे है। सरकार ने स्वाइन फ्लू की रोकथाम और जागरूकता अभियान नहीं चलाया, इस कारण लोग स्वाइन फ्लू की चपेट में आ रहे है और प्रारम्भिक स्तर पर स्वाइन फ्लू बीमारी का पता चल जाता है तो इसका ईलाज सम्भव है।

सराफ ने कहा कि प्रदेश में स्वाइन फ्लू खतरनाक स्तर पर फैल रहा है और सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी है। स्वाइन फ्लू से प्रतिदिन लोग जान गंवा रहे है, आम व्यक्ति से लेकर खास तक इसकी चपेट में आ चुके है, फिर भी पता नहीं सरकार किस उधेड़बुन में लगी हुई है।

गहलोत सरकार ने किए आईपीएस के तबादले

जयपुर। कांग्रेस सरकार ने सत्ता संभालने के 20 दिन के भीतर ब्यूरोक्रेसी में 5वां बड़ा बदलाव किया है। रविवार देर रात 92 आईपीएस अधिकारियों का तबादला किया है। राजस्थान के 33 में से 24 जिलों के एसपी बदले गए हैं। गहलोत सरकार ने 92 आईपीएस के तबादले कर अलग-अलग जिलों की कमान सौंपी है। यहां तक कि पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के संसदीय क्षेत्र झालावाड़ के एसपी को भी वहां से हटा दिया है। अब से शिवराज मीणा झालावाड़ के एसपी होंगे।

इनमें एसपी जोधपुर ग्रामीण राहुल बारहट, पुलिस अधीक्षक इंटेलिजेंस अंशुमन भोमिया, पुलिस अधीक्षक सीआईडी सत्यवीर सिंह पुलिस उपायुक्त जयपुर शहर राहुल प्रकाश सहित पुलिस अधीक्षक भरतपुर हैदर अली भी शामिल हैं।

पीसीसी मुख्यालय में राहुल गांधी की रैली को लेकर हुई बैठक

जयपुर । कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी की आगामी 9 जनवरी को जयपुर में आयोजित होने वाली किसान रैली को लेकर राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय में बैठक आयोजित हुई। इस बैठक में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, डिप्टी सीएम और पीसीसी चीफ सचिन पायलट, प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे, समेत सभी कैबिनेट और राज्यमंत्री और कांग्रेस पदाधिकारी, जिलाध्यक्ष और कांग्रेस विधायक मौजूद रहे। 
वहीं बैठक के बाद कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आगामी 9 जनवरी से जयपुर की किसान रैली से लोकसभा चुनाव का बिगुल फूंकेंगे। वहीं डिप्टी सीएम और पीसीसी चीफ सचिन पायलट ने कहा कि यह रैली ऐतिहासिक होगी। हमने किसानों की कर्जमाफी का वादा पूरा किया है। अब राहुल गांधी इस रैली के माध्यम से लोगों को धन्यवाद ज्ञापित करेंगे। साथ ही सभी प्रदेश के नेता गांधी से केंद्र सरकार पर कर्जमाफी का दबाव बनाने का आग्रह करेंगे। 
बैठक में उपस्थित सभी विधायक और मंत्री अगले दो दिन तक अपने क्षेत्र में घूमकर किसान रैली में शामिल होने के लिए लोगों को आमंत्रण देंगे। रैली जयपुर के विद्याधर नगर स्टेडियम में होने की संभावना है। बैठक करीब एक घंटे तक चली और विधायकों व मंत्रियों से भी राय ली गई। 

मौसम / प्रदेश के कई हिस्सों में शीतलहर का प्रकोप, और बढ़ सकती है सर्दी

जयपुर । राजस्थान में सर्दी का प्रकोप जारी है। रविवार को प्रदेश के कई हिस्सों में कोहरा भी रहा। राजधानी जयपुर में शनिवार रात को 26 किमी. प्रतिघंटे की रफ्तार से ठंडी हवाएं चलीं। वहीं, रविवार सुबह हवा की गति 5 किमी. रिकॉर्ड की गई। जयपुर में सुबह 7 बजे 13 डिग्री और दोपहर 12 बजे 16 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। मौसम विशेषज्ञों ने बताया कि जम्मू-कश्मीर और हिमाचल में पश्चिमी विक्षोभ के असर से बर्फबारी हो रही है। यह विक्षोभ पूर्वी राजस्थान से गुजरेगा। इसके चलते कई जिले ठंड से प्रभावित होंगे। सर्द मौसम में ग्रामीण क्षेत्रों में जनजीवन सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ। पश्चिमी राजस्थान के सीमावर्ती जिले जैसलमेर सहित अजमेर, बीकानेर, शेखावाटी में भी मौसम सर्द रहा।

युवा मोर्चा जुटा मिशन लोकसभा में

जयपुर । लोकसभा चुनावों को लेकर बीजेपी युवा मोर्चा तैयारियों में जुट गया है। लोकसभा चुनाव को देखते हुए इस बार युवा मोर्चा कई तरह के नवाचार करने जा रहा है। इस बार युवाओं पर फोकस करने के लिए युवा मोर्चा 12 जनवरी को विवेकानंद जयंती से कार्यक्रमों की शुरुआत करेगा।
बीजेपी मुख्यालय पर रविवार को युवा मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष अशोक सैनी ने  लोकसभा चुनाव की तैयारियों की जानकारी देते हुए बताया कि विवेकानंद जयंती से शुरू होने वाले मोर्चे के ये कार्यक्रम मार्च तक चलेंगे। सैनी ने बताया कि इसके तहत नेशन विथ नमो कार्यक्रम लॉन्च किया जाएगा। हर विधानसभा क्षेत्र में कबड्डी प्रतियोगिता कराई जाएगी। यूथ आइकॉन को इस साथ लेकर सम्मेलन करने के साथ ही कैम्पस अम्बेसेडर के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा।

यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने भाजपा को लेकर कही ये बात

जयपुर । किसान कर्जमाफी के बीच नए सियासी विवाद को हवा दे दी गई। शनिवार को सचिवालय में आयोजित किसान कर्जमाफी कमेटी की बैठक के बाद यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने कहा- भाजपा राज में कर्ज के बोझ के तले दबे किसानों ने बड़ी संख्या में खुदकुशी की थी। अकेले हाड़ौती क्षेत्र में 70 से ज्यादा किसानों ने जान दी थी। अब कर्जमाफी में उन्हें भी शामिल करेंगे, फिर चाहे उनका कर्ज किसी भी तरह का हो। बता दें कि कर्जमाफी की घोषणा में खुदकुशी करने वाले किसान शामिल नहीं थे। कर्जमाफी कमेटी की आगामी बैठक 10 जनवरी को होगी। धारीवाल बोले कि पिछली भाजपा सरकार में हाड़ौती में ही 70 से ज्यादा किसानों ने आत्महत्या की। ऐसे किसानों का पूरा कर्ज माफ करने की सरकार की मंशा है। वह कर्जा किसी भी तरह का हो। हालांकि, इस पर अभी फैसला नहीं लिया है, अभी प्रस्ताव तैयार करने को कहा है। 10 जनवरी की बैठक में कोई फैसला होगा।
भाजपा प्रदेशाध्यक्ष बोले- पिछले 20 दिन में 3 किसानों की मौत
भाजपा प्रदेशाध्यक्ष मदन लाल सैनी ने कहा कि कांग्रेस झूठ बोल रही है। हमारे राज में नहीं, बल्कि कांग्रेस के सत्ता में आने के महज 20 दिन में ही तीन किसान जान दे चुके हैं। कांग्रेस ने कर्जमाफी की घोषणा पर तो कमेटी बैठा दी। किसानों को झांसा देकर उसने विधानसभा चुनाव में फायदा उठाया।
कर्जमाफी का पैसा कहां से लाएंगे, यह पता नहीं
सचिवालय में कर्जमाफी कमेटी की पहली बैठक डेढ़ घंटे तक चली। इसमें न तो यह तय हो पाया कि कर्जमाफी के क्या राइडर होंगे, न ही वित्त विभाग यह बता पाया कि पैसा कहां से आएगा। वित्त विभाग का कहना था कि पहले यह तो तय हो जाए कि कर्जमाफी किस तरह होगी। बैठक में उद्योग मंत्री परसादी लाल मीणा, सामाजिक न्याय मंत्री भंवर लाल मेघवाल, कृषि मंत्री लालचंद कटारिया सहित अन्य मंत्री व प्रशासनिक अफसर मौजूद रहे।